35 साल बड़े राजकुमार की पिटाई करने वाले थे संजय दत्त, अगले दिन सेट पर पिता को देखा तो.

दिग्गज़ अभिनेता रहे राज कुमार और संजय दत्त दोनों ही फिल्म इंडस्ट्री का एक बड़ा नाम हैं. दोनों ने अपने समय-समय में कई शानदार फिमों में काम किया है. राजकुमार और संजय दत्त ने बॉलीवुड को कई हिट फ़िल्में दी है. दोनों अपनी फिल्मों और अपनी बेहतरीन अदाकारी के साथ ही अपने गुस्सैल रवैये को लेकर भी ख़ूब चर्चित रहे हैं.

राजकुमार इंडस्ट्री में बहुत ही मुंहफट रवैये के लिए जाने जाते थे. बताया जाता है कि वे किसी को भी कुछ भी बोल दिया करते थे, वहीं संजय दत्त का भी विवादों से गहरा नाता रहा है. एक बार तो दोनों अभिनेताओं के बीच भी अनबन हो गई थी और संजय दत्त राजकुमार से इस कदर गुस्सा हुए थे कि वे उन्हें मारने तक का मन बना चुके थे. आइए जानते है इस किस्से के बारे में विस्तार से. साथ ही जानेंगे कैसे सुनील दत्त के चलते राजकुमार और संजय दत्त के बीच सुलह हो पाई थी.

दरअसल, साल 1988 में एक फिल्म आई थी जिसका नाम था ‘मोहब्बत के दुश्मन’. प्रकाश मेहरा के निर्देशन में बनी इस फिल्म में संजय दत्त और राज कुमार अहम रोल में थे. साथ ही इस फिल्म में दिग्गज़ और दिवंगत अभिनेता प्राण, अमरीश पुरी एवं अभिनेत्री हेमा मालिनी भी मुख्य भूमिका में थी.

फिल्म की स्क्रिप्ट में संजय दत्त को राजकुमार से भी काफी दमदार और बेहतरीन डायलॉग्स दिए गए थे. जब राजकुमार को इस बात की ख़बर लगी और उन्होंने संजय दत्त के डायलॉग्स पढ़े तो वे इससे नाराज हो गए और निर्देश प्रकाश मेहरा से उन्होंने साफ़ कह दिया कि, संजय दत्त के डायलॉग्स उन्हें दे दिए जाए.

राजकुमार इंडस्ट्री में एक सुपरस्टार का दर्जा रखते थे और ऐसे में एक बड़े अभिनेता होने के चलते प्रकाश मेहरा राजकुमार को मना नहीं कर सके और वे इस बात के लिए राजी हो गए. लेकिन जब संजय दत्त को इस बात की ख़बर लगी तो उनका माथा ठनक गया और वे काफी नाराज़ हो गए. संजय दत्त तो राजकुमार को पीटने तक का मन भी बना चुके थे.

प्रकाश मेहरा को संजय दत्त के गुस्से के बारे में पता था और किसी भी प्रकार की अनहोनी से बचने के लिए उन्होंने सुनील दत्त को फोन कर दिया और उनसे अगले दिन फिल्म के सेट पर आने के लिए कहा. दूसरी ओर संजय दत्त राजकुमार से बदला लेने का स्वप्न देख रहे थे, लेकिन जब संजय दत्त सेट पर पहुंचें और उन्होंने अपने पिता सुनील दत्त को देखा तो वे शांत हो गए.

प्रकाश मेहरा ने पूरे मामले के बारे में सुनील दत्त को बताया और फिर इसके बाद सुनील दत्त ने अपने बेटे संजय दत्त और राजकुमार को साथ में बैठाया और फिर इस मामले में दोनों के बीच सुलह करवाई थी. इस तरह से तब कहीं जाकर संजय दत्त का गुस्सा पूरी तरह से शांत हुआ और सुनील दत्त के कारण किसी भी प्रकार की अनहोनी टल गई थी.

गौरतलब है कि, संजय दत्त अपने पिता सुनील दत्त के बेहद करीब थे और वे अपने पिता का बहुत सम्मान भी करते थे. जबकि वे सुनील दत्त की हर बात भी मानते थे. ऐसे में पिता के आगे राजकुमार के ख़िलाफ़ उनका पूरा गुस्सा ठंड पड़ गया और उन्होंने पिता की बात को स्वीकार किया.

बता दें कि, राजकुमार ने साल 1996 में यह दुनिया छोड़ दी थी, जबकि सुनील दत्त ने साल 2005 में इस दुनिया को अलविदा कह दिया था. संजय दत्त के वर्कफ़्रंट की बात की जाए तो उनकी आगामी फिल्म KGF चैप्टर 2 है. इस फिल्म में अहम रोल में यश नज़र आने वाले हैं. फिल्म इस साल जुलाई में रिलीज होगी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *