पत्नी से डरकर घर से फरार हुआ था पति, डेढ़ साल बाद पुलिस ने ढूंढकर किया पत्नी के हवाले

दिल्ली पुलिस ने एक महिला की शिकायत पर उसके पति को ढूंढ निकाला है और पति को महिला के हवाले कर दिया है। जब पुलिस ने महिला के पति से पूछताछ की और उसके बाद ये पता लगाने की कोशिश की कि आखिर वो डेढ़ साल तक क्यों गायब रहे। तो इस पति ने चौंकाने वाला खुलासा किया। पति के अनुसार वे अपनी मर्जी से घर छोड़कर गए थे। क्योंकि उसकी पत्नी उसे तंग करती है और वह अपनी पत्नी से डरता है।

पति ने पुलिस को बताया कि वह शराब पीने की आदत थी। जिसकी वजह से रोज पत्नी लड़ाई करती थी। झगड़े व डर के चलते वे घर से भाग गए। हालांकि उसने पत्नी से कुछ नहीं कहा और अचानक से एक दिन गायब हो गया। अचानक से पति के गायब होने पर पत्नी परेशान हो गई और उसने पुलिस में शिकायत दर्ज करवाई।जिसके बाद पुलिस ने उसके पति को खोज निकाला।

इस मामले के बारे में अधिक जानकारी देते हुए पुलिस ने बताया कि महिला कोसर जमान का पति मो। मारगूब अहमद 12 अप्रैल, 2019 को गायब हो गया था। मो। मारगूब पेमेंट लेने नोएडा गया था और तभी से गायब था। पत्नी कोसर जमान ने सेक्टर -150 नोएडा के नॉलेज पार्क थाने में गुमशुदगी की शिकायत दी थी। लेकिन पुलिस ने शिकायत दर्ज करने से मना कर दिया और कहा कि उसकी लोकेशन दिल्ली थी। इसलिए दिल्ली जाएँ ही शिकायत दर्ज करवाएँ।

जिसके बाद कोसर जमान दिल्ली के जहांगीर व नंदनगरी थाने में घूमती रही। मगर मामला दर्ज नहीं हुआ। तंग आकर कोसर जमान ने हाईकोर्ट में याचिका दायर कर दी। हाईकोर्ट ने याचिक पर सुनवाई करते हुए दिल्ली पुलिस को केस दर्ज करने को कहा। हाईकोर्ट के आदेश के बाद दिल्ली पुलिस की एंटी ह्यूमन ट्रैफिकिंग यूनिट(एएचटीयू) ने पति को मेवात से ढूंढ लिया। इस मामले में अब हाईकोर्ट में आठ दिसंबर को सुनवाई है।

दिल्ली पुलिस अधिकारियों के अनुसार पति शराब पीता था। इस कारण दोनों में झगड़ा होता था। झगड़े व डर के चलते पति घर छोड़कर चले गया था। अपराध शाखा डीसीपी मोनिका भारद्वाज ने बताया कि सुंदर नगरी में रहने वाली महिला कोसर जमान का पति मो. मारगूब अहमद लंबे समय से गायब था। हाईकोर्ट ने 14 अक्तूबर, 20 को दिल्ली पुलिस की अपराध शाखा को मामला दर्ज कर महिला के पति को ढूंढने का आदेश दिया था। कोसर ने अपने चचेरे भाई हारून पर पति का अपहरण करने का संदेह जाहिर किया था।

पुलिस ने बताया कि मो। मारगब सीमेंट व रोहड़ी से मिक्चर बनाने वाले प्लांट में काम करता था। हारून मो। मारगूब का भी दोस्त है। पत्नी से झगड़ा होने के बाद मो। मारगूब अपना मोबाइल खोून को देकर चली गई थी और उसने कहा था कि अगर वह जिंदा रही तो फिर मिल जाएगी। पुलिस ने हारून का पॉलिग्राफी टेस्ट कराया गया। लेकिन कुछ भी हाथ नहीं लगाया। जिसके बाद पुलिस की टीम ने मो। मारगूब की तलाश दिल्ली के बाहर शुरू की और उसे गांव पाटूका, शजाद प्लांट, सोहना हरियाणा से ढूंढ लिया गया। मो। मारगूब को उसकी पत्नी के हवाले कर दिया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *