हनुमान जयंती इन खास संयोग के साथ 27 अप्रैल को आ रही है, करें ये काम चमक जाएगा भाग्य

चैत्र माह के शुक्ल पक्ष की चतुर्दशी तिथि को हनुमान जी का जन्म हुआ था और हर साल इसी दिन हनुमान जयंती मनाई जाती है। इस वर्ष हनुमान जयंती 27 अप्रैल 2021 को आ रही है। हनुमान जयंती के दिन बजरंगबली की पूजा करने से इनका आशीर्वाद प्राप्त होता है और दुखों का नाश हो जाता है। हनुमान जंयती के अवसर पर इनकी विशेष पूजा करने से हर मनोकामना भी पूर्ण हो जाती है।

बन रहें हैं कई शुभ योग

इस बार हनुमान जयंती के अवसर पर कई शुभ योग और शुभ मुहूर्त बन रहें हैं। हनुमान जयंती पर सिद्धि योग और व्यतीपात योग बन रहा है। सिद्धि योग शाम 08 बजकर 3 मिनट तक रहेगा। इसके बाद व्यतीपात लग जाएगा। ऐसे में इस दौरान हनुमान की पूजा करना सबसे उत्तम फल प्रदान करेगा। जो लोग इस दिन पूजा करेंगे उनकी रक्षा हर कष्ट व दुखों से हनुमान जी करेंगे।

वहीं हनुमान जी की पूजा करने के अलावा आप नीचे बताए गए उपायों को भी इस दिन जरूर करें। इन उपायों को करने से हनुमान जी आप से बेहद ही प्रसन्न हो जाएंगे।

करें ये खास उपाय –

हनुमान चालीसा का पाठ

हनुमान जयंती के दिन हनुमान चालीसा का पाठ जरूर करना चाहिए। इस दिन शाम के समय एक दीपक हनुमान जी के सामने जला दें। उसके बाद हनुमान चालीसा का पाठ करें। हो सके तो ये पाठ 11 बार करें। ये उपाय करने से हनुमान प्रसन्न हो जाएंगे और जीवन की सभी समस्याओं से मुक्ति दिला देंगे।

करें गुलाब का फूल अर्पित

हनुमान जी को गुलाब का फूल या इस फूल से बनीं माला जरूर अर्पित करें। हनुमान जी की पूजा करते हुए उनके चरण पर फूल या माला अर्पित कर दें। उसके बाद इनके नाम का जाप करें। ये उपाय करने से हनुमान जी आपकी हर कामना को पूर्ण कर देंगे और जो आप पाना चाहते हैं। वो आपको मिल जाएगा।

लिखें राम का नाम

पीपल के 11 पत्ते लें और इनपर श्रीराम का नाम लिखें। ये नाम आप सिंदूर से लिखें। सिंदूर में चमेली का तेल मिला कर लेप तैयार करें और इसी से श्रीराम का नाम लिखें। फिर ये पत्ते हनुमाज जी को अर्पित कर दें। इस उपाय को करने से धन से जुड़ी सभी परेशानियां दूर हो जाएंगी और धन लाभ भी होगा।

पान को करें अर्पित

हनुमान जयंती के अवसर पर पान के पत्ते से जुड़ा ये उपाय करना भी लाभकारी होती है। इस उपाय को करने से घर परिवार की समस्याएं दूर होती हैं। उपाय के तहत पान के विशेष बीड़ा बनवाकर भगवान हनुमान को अर्पित करें और इनकी पूजा करें। इस पान के बीड़ा में खोपरा बूरा, गुलकंद, बादाम कतरी जैसी चीजें जरूर डालें।

सरसों का तेल अर्पित करें

जिन लोगों की कुंडली में शनिग्रह भारी है, वो लोग सरसों का तेल बजरंगबली को अर्पित करें और एक तेल का दीपक इनके पास जला दें। इसके बाद हनुमान जी से जुड़ा कोई भी पाठ पढ़ें। ये उपाय करने से शनि ग्रह का प्रकोप कम होने लग जाएगा और इस ग्रह के बुरे प्रभाव से आपकी रक्षा होगी।

सुदंरकांड जरूर पढ़ें

सुंदरकांड को बेहद ही लाभकारी माना जाता है और इसे पढ़ने से हनुमान जी एकदम प्रसन्न हो जाते हैं। इसलिए हनुमान जयंती के दिन ये पाठ जरूर पढ़ें। शाम के सात बजे एक लाल रंग का आसान बिछा लें। पास में शुद्ध घी की ज्योति को जला दें। फिर सिर को किसी कपड़े से ढक लें और भगवान राम का नाम लेते हुए इस पाठ को पढ़ना शुरू कर दें। ये पाठ 2 घंटे का होता है। पाठ पढ़ने के बाद राम जी का नाम जरूर लें और हनुमान जी के मंत्रों का जाप कर लें। सुंदरकांड को पढ़ने से हर प्रकार के कष्ट से मुक्ति मिल जाती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *