ये है साउथ की 7 ब्लॉकबस्टर फ़िल्में, बॉलीवुड के फैंस के दिलों पर भी करती है राज

आज के समय में साउथ की कई ऐसी फ़िल्में है जो बॉलीवुड फिल्मों को भी टक्कर देती है. आज इस लेख में हम आपको साउथ की ऐसी 7 ब्लॉकबस्टर हिट फिल्मों के बारे में बताने जा रहे हैं जो बॉलीवुड के दर्शकों के दिलों पर भी राज करती है. तो चलिए जानते हैं ऐसी ही 7 फिल्मों के बारे में…

केजीएफ (KGF) 2018…

साल 2018 में आई फिल्म केजीएफ (KFG) ने फैंस को जबरदस्त दीवाना बनाया था. फिलहाल फैंस को फिल्म के दूसरे पार्ट का बेसब्री से इंतज़ार है जो कि इस साल जुलाई में रिलीज होगा. लेकिन बात केजीएफ (KFG) की करें तो यह फिल्म कन्नड़ सिनेमा की अब तक की सबसे अधिक कमाई करने वाली फिल्म साबित हुई थी. इसमें अहम रोल में अभिनेया यश नज़र आए थे. उनके किरदार का नाम रॉकी था. जिसकी मां मरने से पहले उससे कहती है बेटा जैसे मर्जी वैसे जिओ, मगर मरने से पहले दुनिया का सबसे अमीर आदमी ज़रूर बनना. फिल्म में आपको ड्रामा, इमोशन, म्यूज़िक, एखन सब कुछ मिलेगा. साल 2018 में आई इस फिल्म को प्रशांत नील ने निर्देशित किया था.

विश्वरूपम (Vishwaroopam) 2013…

इस फिल्म का आधार जासूसी है. बता दें कि, इसकी कहानी की शुरुआत एक कबूतर की दुकान से शुरू होती है, जहां एक बूढ़ा आदमी एक कबूतर को खाना खिलाकर उड़ा देता है. आगे कबूतर एक ऊंची बिल्डिंग को अपना अथिकाना बना लेता है. दक्षिण भारतीय फिल्मों के सुपरस्टार कमल हासन इस फिल्म में अहम रोल में देखने को मिले थे. पूजा यानी कि जिन्होंने कमल की पत्नी का किरदार अदा किया था वो उनके अजीबो-गरीब व्यवहार को देखकर उसकी सच्चाई जानने के लिए वह एक जासूस रखती हैं. अभिनेता के साथ ही कमल हासन इस फिल्म के निर्माता और निर्देशक भी थे.

मरयन (Maryan) 2013…

पहले आपको फिल्म के नाम का मतलब बता देते हैं. मरयन का अर्थ होता है आम्र, अविनाशी, हमेशा जीवित रहने वाला. फिल्म में अहम किरदार मरयन का ही होता है जो कि मछली पकड़ने का काम करता है. फिल्म के अंदर एक गांव की लड़की को मरयन से प्यार हो जाता है. दूसरी ओर मरयन भी उसके प्यार में पड़ जाता है. लेकिन पैसे कमाने के चक्कर में मरयन सूडान चला जाता है और वह लड़की अकेली रह जाती है. भारत बाला के निर्देशन में बनी इस फिल्म में मरयन का किरदार अभिनेता धनुष ने अदा किया था.

डियर कॉमरेड (Dear Comrade) 2019…

इस फिल्म के अहम किरदार बॉबी और लिली है. लिली एक क्रिकेटर बनना चाहती है और उसका सपना देश के लिए खेलने का होता है. जबकि बॉबी लिली का बॉयफ्रेंड होता है. लेकिन फिल्म में बॉबी के गुस्से के चलते दोनों की राहें अलग-अलग हो जाती है. लेकिन बाद में कई सालों के बाद जब दोनों की मुलाक़ात होती है. इस समय तक लिली क्रिकेट की दुनिया से पूरी तरह से दूर हो जाती है, बॉबी इसके पीछे की वजह जानता है. बता दें कि, इस फिल्म का निर्देशन भारत कैमा ने किया था. बॉबी का किरदार विजय देवरकोंडा जबकि लिली का किरदार रश्मिका मंदाना ने अदा किया था.

दशावतारम (Dashavtar) 2008…

साल 2008 में आई इस फिल्म में अहम रोल में अभिनेता कमल हासन देखने को मिले थे. बूढ़ी अम्मा, अंग्रेज, चीनी, बंगाली बाबू, सरदार, जैसे दस अलग-अलग किरदार लोगों का दिल जीत लेता है. फिल्म की कहानी 12 वीं सदी से लेकर 21 वीं सदी तक की है. फिल्म आपका भरपूर मनोरंजन करने में कामयाब होगी. साल 2008 में आई फिल्म के.एस. रविकुमार के निर्देशन में बनकर तैयार हुई थी.

घातक रात (Ghatak Raat) 2018…

छठवीं आप आ कराला रात्रि देख सकते हैं, हिंदी में इस फिल्म को घातक रात नाम दिया गया है. कर्नाटक के एक छोटे से परिवार से इस फिल्म की कहानी की शुरुआत होती है. वे बड़ी कठिनाइयों के बीच जीवन यापन करते हैं. इस परिवार की मुलाक़ात एक दिन भविष्य बताने वाले इंसान से होती है, जो बताता है कि जल्दी उनके अच्छे दिन आने वाले हैं. बता दें कि, फिल्म का अंत आपको काफी रोमांच दे सकता है.

‘शिवाजी: द बॉस’ (Shivaji: The Boss) 2007…

दक्षिण भारतीय सिनेमा के भगवान कहे जाने वाले दिग्गज़ अभिनेता रजनीकांत का नाम भला कैसे इस सूची में नहीं आएगा. अपने 45 साल लंबे फ़िल्मी करियर में रजनीकांत ने एक से बढ़कर एक हिट फ़िल्में दी है. उनकी सुपरहिट फिल्म में साल 2007 में आई ‘शिवाजी: द बॉस’ (Shivaji: The Boss) शामिल है. इस फिल्म में रजनीकांत ने गजब का काम किया था. शिवाजी विदेश से भारत लौटता है और समाज कल्याण में लग जाता है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *