मौत से पहले बेटे करण नहीं अनिल अंबानी को यह ख़ास लेटर देकर गए थे यश जौहर, लिखा था कुछ ऐसा

मशहूर फिल्म मेकर करण जौहर ने अब तक कई शानदार फिल्मों का निर्माण किया है. करण जौहर को फ़िल्में बनाने की कला अपने पिता यश जौहर से विरासत में मिली है. बता दें कि, यश जौहर अपने समय के मशहूर फिल्म निर्माता रह चुके हैं. उनके निधन के बाद से ही इस काम की बागडोर करण जौहर संभाल रहे हैं.

यश जौहर बॉलीवुड को दोस्ताना और अग्निपथ जैसी कई सुपरहिट फ़िल्में दे चुके हैं. बॉलीवुड में यश ने कई दोस्त भी बनाए थे और साथ ही उद्योग जगत से भी उनका नाता था. बॉलीवुड और अंबानी परिवार के रिश्ते किसी से छिपे नहीं हैं. ऐसे ही यश जौहर और अनिल अंबानी भी बहुत अच्छे दोस्त थे. अनिल अंबानी और यश जौहर के बीच उम्र में काफी अंतर था, लेकिन दोस्ती कहां उम्र, धर्म और जाति की मोहताज होती है. यश और अनिल में गहरी दोस्त थी.

यश जौहर और अनिल अंबानी के बीच दोस्ती कितनी अच्छी थी इस बात का अंदाजा आप इस बात से ही लगा सकते हैं कि, यश जौहर ने अपने निधन से पहले अनिल अंबानी को कुछ ऐसी चीज दी थी जो आगे जाकर करण जौहर को बहुत काम आई थी. जानकारी के मुताबिक, यश जौहर अनिल अंबानी को एक लेटर देकर गए थे. आइए जानते हैं कि आखिर उस लेटर में क्या लिखा हुआ था.

6 सितंबर 1929 को पाकिस्तान के लाहौर में जन्में यश जौहर ने 26 जून 2004 को मुंबई में अंतिम सांस ली थी. 75 साल की उम्र में उन्होंने दुनिया को अलविदा कह दिया था. यश जौहर के अंतिम संस्कार की पूरी बागडोर अनिल अंबानी ने ही संभाली थी.

जब यश जौहर का चौथा हो गया था, तो इसके बाद अनिल अंबानी ने कारण जौहर को फोन किया था और उन्हें कुछ देने के लिए कहा. ऐसे में करण ने कहा कि ठीक है, वे उनके पास आ जाएंगे. जवाब में अनिल अंबानी ने खुद ही करण के घर आने के लिए कह दिया. अनिल, करण के कार्यालय पर पहुंचे और उन्हें वो लेटर दे दिया जो अनिल को यश जौहर ने दिया था. अनिल ने लेटर देते हुए करण से कहा था कि, यह लेटर तुम्हारे पिता ने मुझे तुम्हें दिया था. उनका कहना था कि, सही समय आने पर यह करण को दे देना.

करण के मुताबिक़, लेटर में काम-काज संबंधित सारी जानकारी दर्ज थी. लेटर में यश जौहर के पूरे बिजनेस की जानकारी मौजूद थी. पैसों के हिसाब-किताब का ब्यौरा भी दिया गया था. किससे कितने पैसे लेने है, किसे कितने पैसे देने हैं, उनके बैंक खाते कहां-कहां है, काम-काज संबंधित पूरी जानकारी मौजूद थी. करण ने बताया था कि, पिता के लेटर ने उनके काम को संभालने में उनकी बहुत मदद की थी. बता दें कि, इस पूरे किस्से को करण जौहर ने अपनी जीवनी An Unsuitable Boy में जगह दी है. करण जौहर अनिल अंबानी को अपना बड़ा भाई मानते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *