मनसुख हिरेन की हत्या के समय सचिन वाझे भी था मौजूद, पकड़ा न जाए इसलिए चली थी ये चाल

मनसुख हिरेन हत्या मामले की जांच अब NIA द्वारा की जा रही है और इस मामले में लगातार नए खुलासे हो रहे हैं। नए खुलासे के तहत मनसुख हिरेन को जिस समय मारा गया था। उस दौरान सचिन वाझे भी उसी जगह पर मौजूद था। इस मामले की जांच महाराष्ट्र ATS द्वारा की जा रही थी और महाराष्ट्र ATS ने केस से जुड़े जो दस्तावेज राष्ट्रीय जांच एजेंसी (NIA) को सौंपे हैं, उसमें ये बात कही गई है।

अभी तक की जांच में पाया गया है कि सचिन वाझे ने डोंगरी इलाके में टिप्सी बार में रेड का नाटक किया था। ताकि अगर मनसुख हिरेन हत्या मामले की कोई जांच भी हो तो वो बच सकें। ठाणे के घोडबंदर से आने के बाद सचिन वाझे पहले मुंबई पुलिस हेडक्वार्टर गया। इसके बाद CIU के अपने ऑफिस में गया और फिर अपने मोबाइल को चार्जिंग पर लगा दिया। ताकि उसका लोकेशन कमिश्नर ऑफिस ही दिखे। वहीं सचिन वाझे ने ATS को अपना बयान देते हुए कहा था कि 4 मार्च को वो पूरे दिन मुंबई पुलिस हेडक्वार्टर के CIU ऑफिस में था। लेकिन मोबाइल की लोकेशन के मुताबिक वो दोपहर में 12.48 मिनट पर चेंबूर के MMRDA कॉलोनी में था।

महाराष्ट्र ATS द्वारा NIA को सौंपे गए दस्तावेजों के अनुसार रात में 8.32 मिनट पर मनसुख हिरेन को कांदिवली पुलिस स्टेशन से तावड़े नाम के शख्स का कॉल गया था। जिसने उसे मिलने को बुलाया था। मनसुख हिरेन ऑटो लेकर गया। ठाणे के खोपट इलाके के विकास पाल्म्स अंबेडकर रोड़ से होते हुए बताई गई जगह पहुंचा। मनसुख की पत्नी ने उन्हें रात 11 बजे कॉल किया तो उनका मोबाइल बंद आ रहा था। मनसुख के मोबाइल में दो सिम कार्ड थे और दोनों नंबरों के CDR के मुताबिक एक नंबर पर रात में 8.32 मिनट पर कॉल आया, जबकि दूसरे नंबर पर रात में 10.10 मिनट पर चार मैसेज आए थे। ये चार मैसेज जब आए, तब मोबाइल की लोकेशन वसई के मालजीपडा दिखा रहा था। रात के 9 बजे मनसुख हिरेन को अगवा कर लिया गया था और मोबाइल को स्विच ऑफ कर दिया गया।

मनसुख हिरेन की पत्नी की ओर से जो बयान ATS को दिया गया है, उसमें कहा गया है कि सचिन वाझे ने मनसुख हिरेन को कहा था कि वो इस मामले में गिरफ्तार हो जाए। बाद में सचिन वाझे उसे 3 या 4 दिन बाद निकलवा देगा। लेकिन मनसुख की पत्नी को जब ये बात पता चली तो वो नाराज हो गई। ऐसे में मनसुख कहीं वाझे के राज को न खोल दें। इसके लिए सचिन वाझे ने उसे मारने की साजिश रची।

मनसुख को मारने के बाद जब सचिन वाझे मुंबई वापस लौटा तो वो ऑडी कार में लौटा। महाराष्ट्र ATS को CCTV में रात 10 बजे एक ऑडी कार मुलुंड टोल नाके से मुंबई के अंदर आती दिखाई दी है। महाराष्ट्र ATS इसी ऑडी कार की तलाश में थी। वहीं अब ये मामला NIA को सौंपा गया है और आगे की जांच NIA करने वाली है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *