मंदिरों को सरकारी नियंत्रण से आज़ादी दिलाने के लिए सद्गुरु के समर्थन में आई अभिनेत्री कंगना

आध्यात्मिक गुरु और ईशा फाउंडेशन के संस्थापक सद्गुरू जग्गी वासुदेव (Sadhguru Jaggi Vasudev) ने तमिलनाडु के मंदिरों को सरकार के नियंत्रण से मुक्त कराने के लिए एक मुहिम चलाई है. अब उनकी इस मुहीम को बॉलीवुड अभिनेत्री कंगना रनोट का समर्थन भी मिल गया है.

अभिनेत्री कंगना ने सोशल मीडिया पर #FreeHinduTemples और #FreeTNTemples को सपोर्ट करते हुए लिखा “हिंदुओं के शोषण, दमन और यातना को समाप्त करने की जरूरत है. इस दुनिया की सबसे बड़ी और सबसे पुरानी सभ्यताओं की धीमी गति से हत्या को समाप्त करने की आवश्यकता है” एक समय में एक राज्य, एक मिस्ड कॉल दें और तमिलनाडु के मंदिरों को बचाएं, अपना काम करें ..

 

आपको बता दें कि सद्गुरु जग्गी वासुदेव ने सोमवार के दिन तमिलनाडु के मंदिरों को लेकर सोशल मीडिया पर एक पोस्ट शेयर की थी, जिसमें उन्होंने लिखा था, हिंदू समुदाय को अपने तीर्थयात्रा पर जाने के लिए दान के रूप में भत्ते की जरूरत नहीं है. अच्छे और वैभवपूर्ण मंदिरों की रोजाना यात्रा ही हमारा तीर्थ है. पैसा नहीं, हमें अपने पुराने मंदिरों के गौरव को फिर से स्थापित करने की आवश्यकता है. इसके साथ ही उन्होंने #FreeTNTemples , @CMOTamilNadu , @mkstalin ,@rajinikanth कुछ हैश टैग का इस्तेमाल किया और अभिनेता रजनीकांत को भी टैग किया है.

सद्गुरु जग्गी यही नहीं रुके उन्होंने अपने अगले ट्ववीट में तमिलनाडु के मुख्यमंत्री, एमके स्टालिन और सुपरस्टार रजनीकांत को टैग करते हुए लिखा, आजादी के 75 साल पूरे होने के बाद भी अगर हम अपनी इच्छानुसार हमारे धर्म का पालन करने की आजादी हमें नहीं है तो फिर यह किस तरह की आज़ादी है? यह कोई इस तरह का मुद्दा नहीं है जिसे कोर्ट में ले जाकर सुलझाया जाए. नियम तो यह कहता हैं कि समुदाय को उसका मालिकाना हक देना चाहिए. जोकि उसका अधिकार है.

उन्होंने लिखा, देश में 11,999 मंदिर बिना किसी पूजा के मर रहे है. 34,000 मंदिर 10000 से रुपये से कम में संघर्ष कर रहे है. 37,000 मंदिरों में पूजा, रखरखाव, सुरक्षा आदि के लिए सिर्फ एक व्यक्ति है! मंदिरों को उनके भक्तों के लिए छोड़ दें.

सद्गुरु ने अपने एक अन्य ट्वीट में लिखा, गुरुद्वारे इस बात का सबसे शानदार उदाहरण हैं कि समुदाय अपने धार्मिक पूजा स्थलों को कितने अच्छे से और श्रद्धा से मैनेज कर सकता है. यहाँ किसी भी तरह की आपदा के दौरान अपने समुदाय के हजारों लोगों को भोजन कराने वाले दैनिक लंगरों से. मंदिर इससे कहीं ज्यादा कर सकते हैं.

इसके साथ ही उन्होंने एक वीडियो शेयर करते हुए तमिलनाडु के सीएम पलानीस्वामी की सरकार में मंदिरों की खस्ता हालत के बारे में भी अपनी बात रखी. इसके अलावा उन्होंने मंदिरों के लिए कई सारे अन्य ट्वीट भी किये है. अब उन्हें इसके समर्थन में लोगों के कमेंट भी आने लगे है. इन्हीं में से कंगना रनौत भी एक हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *