नसबंदी के बाद भी गर्भवती हो गई महिला, 5वीं बार बनने जा रही मां, हर्जाने में मांगे 11 लाख रुपए

देश की जनसंख्या को कंट्रोल में करने के लिए सरकार द्वारा परिवार नियोजन ऑपरेशन किया जाता है। इस नसबंदी में यह गारंटी दी जाती है कि आप बिना प्रोटेक्शन के शारीरिक संबंध बनाएंगे तो भी बच्चा नहीं होगा। लेकिन बिहार के मुजफ्फरपुर में एक महिला नसबंदी होने के बावजूद गर्भवती हो गई। ऐसे में उसने उपभोक्ता फोरम में वाद दाखिल कर दिया। यह स्वीकार भी हो गया है। अब इस मामले की सुनवाई 16 मार्च को होगी।

पीड़ित महिला 5वीं बार मां बनने वाली है। ऐसे में वह इस चीज के लिए मानसिक और आर्थिक रूप से रेडी नहीं है। यही वजह है कि उसने स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव पर केस ठोंक दिया। इसके साथ ही उसने हर्जाने के रूप में 11 लाख रुपए की मांग की है। महिला मोतीपुर के महना गांव की निवासी है। फूलकुमारी नाम की इस महिला के पहले से चार बच्चे हैं। वह पांचवा बच्चा नहीं चाहती है। यही वजह है कि उसने 27 जुलाई 2019 को मोतीपुर पीएचसी में परिवार नियोजन का ऑपरेशन करवाया था।

हालांकि इस ऑपरेशन के डेढ़ साल बाद जब उसे पता चला कि वह फिर से गर्भवती हो गई है तो उसके होश उड़ गए। फूलकुमारी को अब यह चिंता सताए जा रही है कि उसके पांचवें बच्चे का भरण पोषण कैसे होगा। जब उसने अपने गर्भवती होने की जानकारी मोतीपुर पीएचसी में दी तो उसका अल्ट्रा साउंड करवाया गया।

पाँचवी बार बिना किसी प्लानिंग के गर्भवती हो जाने पर फूलकुमारी टेंशन मे है। यही वजह है कि उसने बच्चे के बेहतर लालन पालन और उज्वल भविष्य के लिए हर्जाने के रूप में 11 लाख रुपए की मांग की है। फूलकुमारी के अधिवक्ता डॉ. एसके झा ने मीडिया को दिए बयान में कहा कि महिला की इस हालत के लिए स्वास्थ्य महकमे के सर्वोच्च पदाधिकारी भी जिम्मेदार हैं। उनका कहना है कि वे फुलकुमारी को न्याय दिलाने के लिए हर लेवल पर लड़ाई लड़ेंगे।

बताते चलें कि दायर वाद में प्रधान सचिव के अतिरिक्त स्वास्थ्य सचिव परिवार नियोजन के उपनिदेशक और मोतीपुर पीएचसी के प्रभारी डॉक्टर को भी पक्षकार बनाया गया है। वैसे इस पूरे मामले पर आपकी क्या राय है? क्या आपने कभी ऐसा मामला देखा है जहां नसबंदी के बाद भी महिला गर्भवती हो जाती है? क्या महिला द्वारा 11 लाख रुपए का हर्जाना मांगना सही है? अपने जवाब हमे कमेंट सेक्शन में जरूर दें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *