नर्क से भी बदतर है Gay लोगों के लिए ये 5 देश, समलैंगिक संबंध बनाने पर मिलती है फांसी की सजा

समलैंगिक और LGBT ग्रुप्स को आज भी दुनिया के कई हिस्सों में स्वीकार नहीं किया जाता है। कुछ देश तो ऐसे भी हैं जहां समलैंगिक संबंधों की सजा मौत होती है। आज हम इन्हीं देशों की लिस्ट देखने वाले हैं।

ईरान: इस देश में लोग कानूनी रूप से अपना जेंडर को परिवर्तित करवा सकते हैं, लेकिन उन्हें सेम सेक्स की इजाजत नहीं होती है। यदि कोई व्यक्ति समलैंगिक संबंध बनाते हुए पकड़ा जाता है तो उन्हें मौत की सजा भी मिल सकती है। पीनल कोड 1930 से ही यहां समलैंगिक संबंधों पर ग्रहण लगा हुआ है। सेम सेक्स मैरिज को भी यहां कानूनन अपराध माना जाता है।

एक दिलचस्प बात ये है कि यहां पर लेस्बियन यानी महिला का महिला से संबंध बनाने पर उतनी कड़ी सजा नहीं दी जाती है जीती कि गे यानी पुरुषों से पुरुषों के संबंध बनाने पर मिलती है। कहा जाता है कि 1979 से अब तक कई हजार लोग ईरान में समलैंगिक संबंधों के चलते फांसी की सजा के पात्र बन चुके हैं।

सूडान: यहां भी LGBT कम्यूनिटी के खिलाफ कई निर्णय लिए जाते हैं। पहले सूडान में समलैंगिक संबंधों पर फांसी की सजा का प्रावधान था। हालांकि ऐसा कोई मामला अभी तक आधिकारिक रूप से रिकार्ड्स में देखने को नहीं मिला है।

2020 से इस देश ने सेक्स कपल्स के लिए फांसी की सजा को हटाकर उम्रकैद की सजा फिक्स कर दी। इसके अलावा यहां अप्राकृतिक सेक्स पर बैन लगा हुआ है। फिर ये सेम सेक्स कपल करे या अपोजिट। जुर्म साबित होने पर पुरुषों को तो उम्र कैद भी हो जाती है।

सऊदी अरब: इस देश में भी LGBT कम्युनिटी बेहद परेशान है। समलैंगिक संबंध यहां गैरकानूनी श्रेणी में आते हैं। फिर वह महिला हो या पुरुष किसी को छोड़ा नहीं जाता है। यदि कोई समलैंगिक संबंध बनाते हुए पकड़ा जाता है तो उसे उम्रकैद, फाइन और फांसी तक की सजा दी जाती है।

यमन: यहां समलैंगिक संबंधों की सजा फांसी है। हालांकि अभी तक ऐसा कोई रिकॉर्ड नहीं मिला जिसमें इस देश में LGBT समुदाय में से किसी को फांसी की सजा दी गई हो।

नाइजीरिया: यहां सेम सेक्स को लेकर कोई कानून तो नहीं है लेकिन जब लोग समलैंगिक संबंधों में लिप्त पाए पकड़े जाते हैं तो उन्हें मौत की सजा दी जाती है। मौत की ये सजा भी बड़ी दर्दनाक होती है। आरोपी को पत्थर से कूच कर मारा जाता है।

इसके अतिरिक्त मॉरीशस, अफगानिस्तान, पाकिस्तान, क़तर और संयुक्त अरब अमीरात के कुछ हिस्सों में भी सेम सेक्स पर मौत की सजा दी जाती है। वहीं ब्रूनेई द्वारा भी 2019 में समलैंगिक संबंधों को अपराध की श्रेणी में डाला गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *