जिस मर्सिडीज कार का इस्तेमाल करते थे सचिन वाझे, NIA को उसमें से मिली स्कॉर्पियो की नंबर प्लेट

राष्ट्रीय जांच एजेंसी (NIA) द्वारा मुकेश अंबानी के घर के पास से मिली विस्फोटक से लदी स्कॉर्पियो गाड़ी मामले की जांच की जा रही है और इस मामले में एक ओर अहम बात सामने आई है। राष्ट्रीय जांच एजेंसी (NIA) ने मंगलवार को एक मर्सिडीज बेंज गाड़ी को जब्त किया है। इस गाड़ी के अंदर से एनआईए को स्कॉर्पियो कार की नंबर प्लेट मिली है। एनआईए के अनुसार ये गाड़ी पुलिस अफसर सचिन वाझे चलाते थे। गाड़ी से कई अहम चीजें भी बरामद हुई हैं। जांच एजेंसी को ये मर्सिडीज कार मुंबई क्राइम ब्रांच ऑफिस के पास एक पार्किंग से मिली है। यानी साफ है कि इस पूरे मामले में सचिन वाझे अब बुरी तरह से फंसते जा रहे हैं।

एनआईए के आईडी अनिल शुक्ला ने बताया कि ”एनआईए ने काले रंग की मर्सिडीज बेंज को जब्त कर लिया है। इसमें स्कॉर्पियो कार की नंबर प्लेट, 5 लाख रुपये से अधिक की नकदी, एक नोट गिनने की मशीन और कुछ कपड़े मिले हैं। सचिन वाझे ये कार चलाते थे। लेकिन ये किसकी है ये अभी तक पता नहीं चल सका है और इसकी जांच की जा रही है। अभी तक जांच में ये भी पाया गया है कि स्कॉर्पियो के मालिक मनसुख हिरेन ने 17 फरवरी को यही गाड़ी इस्तेमाल की थी।

एनआईए ने इससे पहले अपराध खुफिया इकाई (सीआईयू) दफ्तर की भी तलाशी ली थी और इस समय केंद्रीय एजेंसी सीआईयू से जुड़े एक पुलिस अधिकारी से भी पूछताछ की है। कहा जा रहा है कि सचिन वाझे शहर पुलिस की क्राइम ब्रांच के सीआईयू से संबंद्ध थे। एनआईए की टीम ने सचिन वाझे के दफ्तर की तलाशी जब ली तो वहां से कुछ आपत्तिजनक दस्तावेज भी इनके हाथ लगे हैं।

इस मामले में एनआईए ने 13 मार्च को सचिन वाझे को गिरफ्तार कर लिया था। जिसके बाद इन्हें अपने पद से निलंबित कर दिया गया था। इस मामले में मनसुख हिरेन की पत्नी ने सचिन वाजे पर कई गंभीर आरोप लगाए हैं और पुलिस को बताया है कि अंबानी के घर के पास से मिली स्कॉर्पियो को कुछ समय तक सचिन वाझे ने इस्तेमाल किया था।

गौरतलब है कि मुकेश अंबानी के घर के पास से विस्फोटक से लदी स्कॉर्पियो मिलने के बाद इस कार के मालिक हिरेन से पूछताछ की गई थी। जिसमें इन्होंने दावा किया था कि उनकी स्कॉर्पियो चोरी हुई थी। वहीं कुछ समय बाद हिरेन की रहस्यमयी परिस्थितियों में मौत हो गई। हिरेन की मौत के बाद ये मामला एनआईए के हाथों आ गया था और अब मामले की जांच ये एजेंसी कर रही है। इस मामले में सचिन वाझे से 12 घंटे तक पूछताछ करने के बाद उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया था। 25 मार्च तक के लिए इन्हें हिरासत में भेजा गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *