जन्मदिन न मनाने से बच्चा हुआ नाराज, घर छोड़ चल पड़ा ननिहाल, फिर थाने में ही कटा केक

बच्चे बहुत ही भोले होते हैं। बच्चे भोलेपन में बहुत सी शरारते कर देते हैं, जिसकी वजह से कई बार माता-पिता उनको डांट भी लगाते हैं। इसके अलावा ऐसे कई अवसर होते हैं जिन पर बच्चे किसी ना किसी बात को लेकर जिद पकड़ लेते हैं। जब उनकी जिद पूरी नहीं होती है तो बच्चे कुछ ऐसा कदम उठा लेते हैं जिसके बारे में माता-पिता कभी सोच भी नहीं सकते। आज हम आपको एक ऐसे मामले के बारे में जानकारी देने जा रहे हैं, जिसमें जन्मदिन न मनाने से बच्चा नाराज होकर घर छोड़ अपने नाना के घर चल दिया।

आपको बता दें कि बच्चे अपने जन्मदिन को लेकर काफी उत्सुक रहते हैं। बच्चों की यही इच्छा होती है कि उनका जन्मदिन धूमधाम से मनाया जाए। परंतु जब बच्चों को माता-पिता उनका जन्मदिन मनाने से मना कर देते हैं तो अक्सर बच्चे नाराज भी हो जाते हैं परंतु जिस मामले के बारे में आज हम आपको बताने जा रहे हैं इसमें बच्चा जन्मदिन न मनाने की वजह से इतना नाराज हो गया कि वह अपनी साइकिल उठाकर नाना के घर चल दिया। इस बच्चे की उम्र महज 9 साल है। यह वाकया उत्तराखंड के देहरादून का है।

दरअसल, देहरादून की नेहरू नगर कॉलोनी के रिस्पना क्षेत्र में एक छोटा बच्चा साइकिल से ही अपने नाना के घर जाने के लिए निकल पड़ा। नाना का घर थोड़ी दूर नहीं बल्कि सैकड़ों किलोमीटर दूर उत्तर प्रदेश के बिजनौर जिले में है। जब इस मामले की जानकारी पुलिस को पता चली तो तुरंत ही थाने के कुछ पुलिसकर्मी रिश्ता ना पहुंच गए और उस छोटे बच्चे को साथ में थाने लेकर आ गए।

जब थाने के अंदर बाल कल्याण अधिकारी को इस बात की सूचना मिली तब अधिकारी ने उस बच्चे से इस कदम को उठाने के बारे में पूछा। तब बच्चे ने बताया कि उसका नाम अरहम है और उनके पिताजी का नाम मतलूब है। बच्चा अपने घर की जानकारी ठीक प्रकार से नहीं दे पाया था।

जब 9 साल के अरहम से बाल अधिकारी ने यह सवाल किया कि तुम इस तरह अकेले क्यों जा रहे हो तो उस छोटे मासूम बच्चे ने बड़ी ही मासूमियत से जवाब दिया कि आज उसका जन्मदिन है। मासूम बच्चे ने बताया कि उसके पिताजी ने जन्मदिन नहीं मनाया और जब उसने जिद की तो उन्होंने उसे डांट भी दिया, जिससे वह नाराज होकर साइकिल से अपने नाना के घर बिजनौर जाने के लिए निकल गया। जब थाने के अंदर मौजूद पुलिसकर्मियों को यह बात पता चली तो तुरंत ही जन्मदिन मनाने की तैयारी शुरू कर दी गई।

मिली जानकारी के अनुसार, थाने के अंदर ही बच्चे के जन्मदिन की तैयारी की गई। केक और गिफ्ट मंगवा कर पुलिस ने उस बच्चे की इच्छा पूरी की। थाने के अंदर ही बच्चे का जन्मदिन धूमधाम से मनाया गया। थाने में केक काटा गया, मिठाइयां बंटी, गिफ्ट दिए गए और जब बच्चे की जिद पूरी हो गई तो उस बच्चे के चेहरे की खुशी देखकर सभी पुलिसकर्मी बेहद खुश हो गए।

आपको बता दें कि जब बच्चा अपने घर की जानकारी ठीक से नहीं दे पाया तो पुलिस में उसकी तस्वीर और कुछ जानकारी व्हाट्सएप ग्रुप में शेयर की। जिसके थोड़ी देर बाद ही माता-पिता की भी जानकारी मिल गई थी। पुलिस ने 9 साल के अरहम को उसके माता-पिता के सिपुर्द कर दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *