कोरोना: नियम तोड़ होशियार बन रहे थे युवक, पुलिस ने मुर्गा बना बीच सड़क चलवाया, देखें Video

भारत में कोरोना वायरस की दूसरी लहर अपना कहर बरसा रही है। ऐसे में लोगों को सार्वजनिक जगहों पर मास्क लगाने और ग्रुप में भीड़ एकत्रित न करने की सलाह दी जा रही है। हालांकि इसके बावजूद कुछ लोग इन नियमों को तोड़ते नजर आते हैं। ऐसे में पुलिस भी इनसे अपने तरीके से निपटती है।

अब सोशल मीडिया पर वायरल इस वीडियो (Viral Video) को ही ले लीजिए। इसमें पुलिस कुछ युवकों को सड़क पर मुर्गा बनाकर घुमा रही है। ये वीडियो मुंबई (Mumbai) के मरीन ड्राइव (Marine Drive) का बताया जा रहा है। जानकारी के मुताबिक कुछ युवक समुद्र के किनारे जाने का कथित प्रयास कर रहे थे। इसी के चलते मुंबई पुलिस (Mumbai Police) ने उन्हें सजा के रूप में मुर्गा बनाकर चलवाया।

पुलिस की यह अनोखी सजा का वीडियो सोशल मीडिया पर चर्चा का विषय बना हुआ है। वीडियो में देखा जा सकता है कि कैसे चार पांच युवक मुर्गा बन सड़क पर चल रहे हैं। वहीं पास में एक पुलिस वाला हाथ में डंडा लिए खड़ा है। यह सजा युवकों को सरेआम दी जा रही है। इस घटना का एक वीडियो दूर से एक शख्स ने मोबाईल से बना लिया।

एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि ये घटना दोपहर की है। कुछ युवक ग्रुप बनाकर समुद्र में जाने की कोशिश कर रहे थे। ऐसे में वहां गश्त कर रहे पुलिसकर्मियों के एक दल ने उन्हें देख लिया और सजा के तौर पर मुर्गा बनाकर बीच सड़क चलवाया। बाद में युवकों को चेतावनी देकर छोड़ दिया गया।

वहीं सोशल मीडिया पर यह वीडियो ये बोलकर वायरल किया जा रहा है कि युवकों ने मास्क नहीं पहना था इसलिए उन्हें ऐसी सजा मिली। इस पूरे वीडियो पर मुंबई पुलिस ने कहा कि हर उल्लंघन पर कार्रवाई का एक कानूनी प्रावधान है। इसलिए सिर्फ वही दंडात्मक कार्रवाई की जा सकती है।

यहां देखें वीडियो

सोशल मीडिया पर लोगों को पुलिस का सजा देने का यह अंदाज बड़ा पसंद आ रहा है। इस वीडियो को देख लोगों को पिछले साल के लॉकडाउन की याद आ गई। तब भी नियम तोड़ने पर कई युवकों को पुलिस ने मुर्गा बनने की सजा दी थी। वहीं कई वीडियो ऐसे भी वायरल हुए थे जिसमें पुलिस नियम तोड़ने वाले यवकों को डंडे मारती नजर आई थी।

वैसे इस पूरे मामले पर आपकी क्या राय है? क्या पुलिस ने इन युवकों को मुर्गा बनाकर सही किया? या इन्हें कोई और सजा मिलनी चाहिए थी? अपने जवाब कमेंट बॉक्स में जरूर दें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *