केंद्र सरकार ने दी चेतावनी, कहा- देश जोखिम में है, कोरोना वायरस की चेन तोड़ना जरूरी

केंद्र सरकार ने कोरोना की दूसरी लहर को लेकर चिंता जाहिर की है और कहा है कि पूरा देश जोखिम में है। ऐसे में किसी को भी लापरवाही नहीं बरतनी चाहिए। केंद्र सरकार ने मंगलवार को कहा कि कोरोना से सबसे ज्यादा प्रभावित 10 में से 8 जिले महाराष्ट्र से हैं। इन 10 जिलों में दिल्ली भी एक जिले के रूप में है। लोगों को सावधान रहना चाहिए। आने वाले समय में कोरोना बेकाबू हो सकता है।

हेल्थ सेक्रेटरी राजेश भूषण ने देश में कोरोना के बिगड़ते हालतों पर कहा कि जिन 10 जिलों में सबसे ज्यादा एक्टिव केस हैं, उनमें पुणे (59,475), मुंबई (46,248), नागपुर (45,322), ठाणे (35,264), नासिक (26,553), औरंगाबाद (21,282), बेंगलुरु नगरीय (16,259), नांदेड़ (15,171), दिल्ली (8,032) और अहमदनगर (7,952) शामिल हैं।

वहीं नीति आयोग के सदस्य वीके पॉल ने कहा कि हम काफी गंभीर और खतरनाक हालात से गुजर रहे हैं। पूरा देश जोखिम में है। इसलिए वायरस की चेन को तोड़ना जरूरी है। जिंदगियां बचाने के लिए हमें सारी कोशिशें करनी होगी। इन्होंने अस्पताल और ICU संबंधी तैयारियों पर भी बात की और कहा कि हमें ये सब तैयार रखना होगा। अगर मामले इसी तेजी से बढ़े, तो स्वास्थ्य प्रणाली चरमरा जाएगी।

कोरोना के बढ़ते ममालों के लिए लोगों की लापरवाही को जिम्मेदार माना जा रहा है। अधिकांश राज्यों में आइसोलेशन ठीक से नहीं हो रहा है। लोगों को घर पर ही आइसोलेट या क्वारैंटाइन होने को कह तो दिया जाता है। लेकिन उनकी निगरानी नहीं रखी जा रही है। साथ में ही टेस्ट कम किए जा रहे हैं और कांटैक्ट ट्रेसिंग में कमी आई है। इन सभी कारणों के चलते केस बढ़ते जा रहे हैं।

हेल्थ मिनिस्ट्री के मुताबिक महाराष्ट्र, पंजाब, छत्तीसगढ़, मध्यप्रदेश, तमिलनाडु, कर्नाटक, गुजरात और दिल्ली में पिछले कुछ दिनों में नए मामलों में तेजी से आए हैं। औसत पॉजिटिविटी रेट में बढ़ोतरी दर्ज की गई है। महाराष्ट्र में 23.44%, पंजाब में 8.82%, छत्तीसगढ़ में 8.24% और मध्यप्रदेश में 7.82% की दर से संक्रमण के मामले बढ़ रहे हैं।

देश में बीते 24 घंटे में 53,125 नए केस सामने आए हैं। जबकि 41,217 मरीज ठीक हुए और 355 की मौत हो गई। देश में अब तक करीब 1.21 करोड़ लोगों को कोरोना हो चुका है। जबकि 1.14 करोड़ लोग इससे ठीक हो चुके हैं। 5.49 लाख लोगों का इस समय इलाज चल रहा है।

कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए सरकार टीकाकरण अभियान में ओर तेजी लाई है और एक अप्रैल से 45 से अधिक आयु वाले लोगों का भी टीकाकरण किया जाएगा। सरकार का लक्ष्य है कि जल्द से जल्द लोगों का टीकाकरण हो सके, ताकि इस बीमारी पर काबू पाया जा सके।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *