काजोल जब छोटी थी तो उसी समय उनके मम्मी पापा ने ले लिया था तलाक, बहन के साथ इस तरह बिता बचपन

काजोल बॉलीवुड की सबसे बड़ी और हिट देने वाली अभिनेत्रियों में से एक है. काजोल का जन्म 5 अगस्त 1974 को मुंबई शहर में हुआ था. काजोल का पूरा परिवार ही फ़िल्मी है. काजोल एक्ट्रेस तनुजा और फिल्म मेकर सोमू मुखर्जी की बेटी हैं. काजोल के पिता शोमू मुखर्जी निर्माता-निर्देशक रह चुके हैं. काजोल की अदाकारी और नटखट हरकतों का हर कोई दीवाना है. काजोल ने अमूमन हर अभिनेता के साथ काम किया है और एक से बढ़कर एक फिल्म दी है. ऐसा शायद ही कोई होगा जो काजोल की फिल्म को पसंद न करें.

काजोल के पिता ही नहीं बल्कि उनकी पुश्तें भी फ़िल्मी इंडस्ट्री से जुडी हुई है. काजोल के दादा और सभी चाचा फिल्म इंडस्ट्री से नाता रखते है. अगर उनके परिवार के फ़िल्मी करियर के बारे में बात की जाए तो. उनकी मां तनुजा, मौसी नूतन, नानी शोभना समर्थ और परनानी रतन बाई बॉलीवुड में प्रसिद्ध अभिनेत्री रही हैं. इनके अलावा काजोल, रानी मुखर्जी, मोहनीश बहल, शरबनी मुखर्जी और अयान मुखर्जी ये सभी लोग कजिन भाई-बहन हैं.

बचपन से ही काजोल की परवरिश एक फ़िल्मी माहौल में हुई है. काजोल को बचपन से ही बोर्डिंग स्कूल में पढ़ाई के लिए भेज दिया गया था. काजोल ने अपनी स्कूली शिक्षा पंचगनी के सेंट जोसेफ कॉन्वेट स्कूल से ली है. अपनी स्कूल ने काजोल हेड गर्ल थी. काजोल की बचपन से ही डांस में रूचि थी. इस दौरान ही उन्होंने यह ठान लिया था कि वो मम्मी तनुजा और मासी नूतन की तरह फिल्मों में अभिनय करेंगी.

काजोल जब छोटी थी इसी दौरान उनके मम्मी पापा किसी अनबन की वजह से अलग रहने लगे थे. इसके बाद काजोल और उनकी बहन तनिशा उनकी मम्मी के साथ ही रहे. आज से कुछ साल पहले ही उनके पिता सोमू मुखर्जी का निधन हुआ था. आपको बता दें कि काजोल का उनकी माँ से बहुत ही गहरा रिश्ता है. जब भी वह बीमार होती है काजोल उनकी बहुत अच्छे से देखभाल करती है.

आपको जानकर हैरानी होगी कि काजोल ने पहली फिल्म ‘बेखुदी’ सिर्फ 16 साल की उम्र में ही साइन की थी. फिल्मों में अपना करियर बनाने के लिए उन्होंने स्कूल तक छोड़ दिया था. काजोल की पहली फिल्म ‘बेखुदी’ तो फ्लॉप रही थी. लेकिन उनकी दूसरी ही फिल्म ‘बाजीगर’ ने कमाल कर दिया था. ‘बाजीगर’ ने उन्हें स्टार बना दिया था. शाहरुख के साथ काजोल की जोड़ी चल निकली थी बाद में दोनों को कई फिल्मों में साथ देखा गया था.

मासूम सी दिखने वाली काजोल ने 1995 में दिलवाले दुल्हनियां ले जाएंगे से जादू कर दिया. दिलवाले दुल्हनियां ले जाएंगे से काजोल बॉलीवुड की बड़ी स्टार बन गई उसके बाद ये दिल्लगी, करण अर्जुन, दुश्मन, गुप्त, इश्क, प्यार किया तो डरना क्या जैसी फिल्मों को करने के बाद काजोल सुपरस्टार बन गई. आपको बता दें कि काजोल ने माँ बनने के बाद फिल्मों में काम करना बंद कर दिया था, क्योंकि वह अपने बच्चों की अच्छे से परवरिश करना चाहती थीं.

काजोल ने अपनी बेटी को पढ़ाने के लिए सिंगापुर भेजा हुआ है. वहीं अजय और काजोल का बेटा युग अभी 10 साल का ही है. उनका बेटा अपने माता पिता के साथ मुम्बई मे ही रहता है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *