इस महिला को पसंद है दाढ़ी मुछ रखना, रेजर और हेयर रिमूवर को छूती भी नहीं, बताई दिलचस्प वजह

मर्दों के चेहरे पर दाढ़ी मुछ का उगना बहुत आम बात है। इसमें पुरुष हैन्डसम लगते हैं। वहीं महिलाओं के चेहरे पर यदि थोड़े से भी बाल आ जाए तो वे ह रिमूवर या रेजर का सहारा लेकर इन अनचाहे बालों को हटवाते हैं। लेकिन आज हम आपको एक ऐसी महिला से मिलाने जा रहे हैं जिन्होंने अपने चेहरे पर उग आधी मुछ को हटाने की बजाय आगे बढ़ाया।

क्लाइड वॉरेन (क्लाइड वॉरेन) नाम की यह महिला अमेरिका के नेबरास्का में रहती है। जब वे 15 साल की थी तब उनके चेहरे पर बाल आना शुरू हो गए थे। ये कोई रोएं नहीं थे, बल्कि असली बाल थे। उनके आने पर क्लाइड ने निर्णय लिया कि वे प्रकृति के इस नियम के साथ कोई छेड़छाड़ नहीं करेंगी। ये जैसे हैं वैसा ही रहने और बढ़ने देंगी।

क्लाइड के इस निर्णय का उनका जीवंत जीवन पर बहुत ही बड़ा असर पड़ा। लोग उन्हें चेहरे के बालों के कारण भद्दे कमेंट्स करने लगे। वे जहां भी जाते हैं लोग उन्हें घूरते जाते थे। यहां तक ​​कि डेटिंग एप्स पर भी उनका मजाक उड़ाया जाता है। लोग मुंह के ऊपर ही उनकी बदसूरत को लेकर भद्दे कमेंट कर देते थे। हालांकि इन सबके बावजूद क्लाइड टूटी नहीं। बल्कि वे एक मजबूत महिला बनकर उभरी हैं। आज वे पूरी दुनिया में अपनी मजबूत इच्छाशक्ति की वजह से सुर्खियों में हैं।

क्लाइड वैरेन बताती हैं कि मेरे चेहरे के बालों के कारण बहुत ताने सुनने को मिलते हैं। आलम ये था कि लोग मेरे पास बैठना तक पसंद नहीं करते थे। हालांकि समय बीतने जा रहा था और 27 साल की क्लाइड वैरेन और भी मजबूत हो गई। उनका फैसला आज भी वैसा ही है। वे अपने चेहरे के बालों को नहीं हटाना चाहते हैं। वे इसे कुदरत का दिया तोहफा समझती हैं।

क्लाइड वैरेन का एक पार्टनर भी है जो उन्हें सपॉर्ट करता है। उन्होंने क्लाइड से कहा था कि आपकी जिद आपको स्ट्रॉंग बनाएगी। और ऐसा हुआ भी। क्लाइड वर्तमान में एक मजबूत महिला है। वे लेखिका बनना चाहती थीं। हालांकि वर्तमान में फ्रीलांस पत्रकारिता कर रहे हैं।

क्लाइड वैरेन की इस बीमारी की वजह हिर्सुटिज्म (Hirsutism) नमक एक बीमारी है। इसमें महिलाओं के चेहरे, घुटने, पेट, छाती, पीठ और जांघ इत्यादि स्थानों पर बाल उग आते हैं। हिर्सुटिज्म एक हार्मोनल प्रॉब्लम (हार्मोनल समस्या) की वजह से होता है। इससे बॉडी में एंड्रोजेंस नामक हॉर्मोन का लेवल बढ़ जाता है। इससे पॉलिसिस्टिक ओवेसी न्यूर हो जाता है। वैसे इसका इलाज हो सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *